FIFA वर्ल्ड कप: अर्जेंटीना को 1-0 से हरा चैंपियन बना जर्मनी.. Reviewed by Momizat on . रियो डी जेनिरियो. जर्मनी ने फीफा वर्ल्‍ड कप के रोमांचक फाइनल मुकाबले में अर्जेंटीना को 1-0 से हराकर चौथी बार खिताब (इससे पहले 1954, 1974 और 1990) अपने नाम किया। रियो डी जेनिरियो. जर्मनी ने फीफा वर्ल्‍ड कप के रोमांचक फाइनल मुकाबले में अर्जेंटीना को 1-0 से हराकर चौथी बार खिताब (इससे पहले 1954, 1974 और 1990) अपने नाम किया। Rating: 0
You Are Here: Home » Sports » Foot Ball » FIFA वर्ल्ड कप: अर्जेंटीना को 1-0 से हरा चैंपियन बना जर्मनी..

FIFA वर्ल्ड कप: अर्जेंटीना को 1-0 से हरा चैंपियन बना जर्मनी..

FIFA वर्ल्ड कप: अर्जेंटीना को 1-0 से हरा चैंपियन बना जर्मनी..

रियो डी जेनिरियो. जर्मनी ने फीफा वर्ल्‍ड कप के रोमांचक फाइनल मुकाबले में अर्जेंटीना को 1-0 से हराकर चौथी बार खिताब (इससे पहले 1954, 1974 और 1990) अपने नाम किया। इसी के साथ जर्मनी लैटिन अमेरिकी धरती पर फीफा वर्ल्‍ड चैम्पियन का खिताब हासिल करने वाला पहला यूरोपीय देश बन गया। जर्मनी ने इससे पहले 1990 में विश्‍व कप जीता था। उस वक्‍त भी फाइनल में उसका मुकाबला अर्जेंटीना से ही हुआ था और जर्मनी 1-0 से विजेता रहा था।

113वें मिनट में हुआ गोल
मारियो गोत्जे ने अतिरिक्त समय में गोल कर जर्मनी को जीत दिलाई। फाइनल मुकाबले में जर्मनी और अर्जेंटीना की तरफ से निर्धारित 90 मिनट के अंदर कोई गोल नहीं हो सका। इसके बाद मैच 30 मिनट के एक्‍स्‍ट्रा टाइम में चला गया। 113वें मिनट में आखिरकार वह क्षण आया, जब दुनिया भर के फुटबॉल प्रेमियों को बहु प्रतीक्षित विजयी गोल देखने को मिला। यह गोल उस मारियो गोत्जे ने किया, जिन्हें वर्ल्ड कप में सर्वाधिक 16 गोल करने वाले क्लोज की जगह 87वें मिनट में मैदान में भेजा गया था। गोत्जे ने आंद्रे शुर्ले के बाएं छोर से दिए गए क्रॉस को अपनी छाती पर रोका और शानदार वॉली से उसे गोल तक पहुंचा दिया।

24 साल बाद चैम्पियन बना जर्मनी
गोत्जे के गोल की बदौलत जर्मनी 24 साल बाद फिर से फुटबॉल वर्ल्ड चैम्पियन बनने में सफल रहा। इससे पहले पश्चिम जर्मनी ने 1954, 1974 और 1990 में खिताब जीता था। इस तरह जर्मनी चौथी बार विश्व चैम्पियन बनने में सफल रहा।

अर्जेंटीना का सपना हुआ चकनाचूर
1978 और 1986 के चैम्पियन अर्जेंटीना का तीसरा खिताब जीतने का सपना चकनाचूर हो गया। संयोग से जर्मनी ने इससे पहले अपना आखिरी खिताब भी अर्जेंटीना को हरा कर ही जीता था।

मौका चूक गए मैसी
मुकाबले के पहले हाफ में दोनों टीमों पर दबाव साफ दिखाई दिया। दोनों को गोल करने के कई अवसर मिले, लेकिन दिशाहीन प्रहार से गेंद को गोल में नहीं बदल सके। दूसरे हाफ में दोनों टीमों के खिलाड़ी लय में नजर आए और अटैक पर जोर दिया। हालांकि, निर्धारित 90 मिनट तक दोनों टीमें गोल नहीं कर सकीं। अतिरिक्त समय के पहले हाफ में ही लियोनल मैसी को एक मौका मिला, लेकिन वो उसे गोल में नहीं बदल पाए।

About The Author

Number of Entries : 3374

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.