16 साल बाद फिर बेकाबू हुए फैन्‍स Reviewed by Momizat on . कटक. भारत और साउथ अफ्रीका के बीच सोमवार को खेला गया दूसरा टी20 मैच फैंस के बुरे बर्ताव का शिकार हो गया। दर्शकों ने फील्ड पर बोतलें फेंकी, जिसकी वजह से दो बार मै कटक. भारत और साउथ अफ्रीका के बीच सोमवार को खेला गया दूसरा टी20 मैच फैंस के बुरे बर्ताव का शिकार हो गया। दर्शकों ने फील्ड पर बोतलें फेंकी, जिसकी वजह से दो बार मै Rating: 0
You Are Here: Home » Sports » Cricket » 16 साल बाद फिर बेकाबू हुए फैन्‍स

16 साल बाद फिर बेकाबू हुए फैन्‍स

16 साल बाद फिर बेकाबू हुए फैन्‍स

कटक. भारत और साउथ अफ्रीका के बीच सोमवार को खेला गया दूसरा टी20 मैच फैंस के बुरे बर्ताव का शिकार हो गया। दर्शकों ने फील्ड पर बोतलें फेंकी, जिसकी वजह से दो बार मैच रुक गया। दर्शकों का ऐसा बर्ताव 16 साल बाद देखने को मिला।

मेहमान टीम की पारी के 11 ओवर हुए थे, उस समय दर्शकों ने पहली बार मैदान में बोतलें फेंकी, जिसके कारण करीब 20 मिनट तक खेल रुका रहा। खेल शुरू होने के बाद दो ओवर ही हुए थे कि बाराबती स्टेडियम के दर्शकों ने फिर वही शर्मनाक हरकत कर दी और मैच रोकने के लिए अंपायरों को मजबूर होना पड़ा। लगभग आधा घंटा खेल बाधित रहा। इस बीच मैच रेफरी क्रिस ब्राड भी मैदान में आ गए और दोनों टीमों के खिलाड़ी पवेलियन लौट चुके थे। आखिर स्टैंड खाली कराकर मैच फिर शुरू किया गया।

बता दें कि भारत ने इस मैच में अपना दूसरा सबसे कम स्कोर 92 बनाया। इससे पहले, फरवरी 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एमसीजी पर 74 रन बनाए थे। बता दें कि टीम इंडिया को साउथ अफ्रीका से लगातार दूसरी हार झेलनी पड़ी। इस हार के साथ ही वह टी-20 सीरीज 2-0 से हार गई है।

1999 में ईडन गार्डन्स पर पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान सचिन तेंडुलकर के आउट होने के बाद दर्शकों ने ऐसे ही बोतलें और पत्थर फेंके थे। इससे पहले भी मैदान पर भारतीय फैन्‍स कई बार ऐसी हरकतें कर चुके हैं-

टीम इंडिया के कप्तान धोनी ने दर्शकों के बुरे बर्ताव को ज्यादा तवज्जो न देने की बात कही। उन्होंने कहा, ”अगर आप सेफ्टी के लिए लिहाज से कहें तो यह कोई बहुत गंभीर बात नहीं थी। कुछ ताकतवर लोग ही बाड़ के इस पार बोतलें फेंक सके। हम अच्छा नहीं खेल सके तो लोगों का ऐसा रिएक्शन लाजिमी है। हालांकि, जब एक बोतल फेंकी जाती है तो लोग मजे के लिए उसके बाद लगातार बोतलें फेंकते जाते हैं। हमें इसे बहुत गंभीरता से नहीं लेना चाहिए। आपको भूलना नहीं चाहिए कि एक बार हमने वाइजैग में मैच जीता, लेकिन उस वक्त भी लोगों ने बोतलें फेंकी थीं।”

आईपीएल के दौरान सालों से भारत में क्रिकेट खेलने वाले साउथ अफ्रीकी कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने कहा, ”ऐसा देखना अच्छा नहीं लगता। मैंने भारत में पांच-छह साल क्रिकेट खेला है। मैंने यहां ऐसा होते कभी नहीं देखा। जो कुछ भी हुआ वो क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं है। ऐसा दोबारा नहीं होना चाहिए। ऐसा पहली और आखिरी बार ही हो।” बता दें कि इंडियन दर्शकों का ऐसा बर्ताव कई बार सामने आ चुका है।

हाई प्रोफाइल मैचों में स्टैंडर्ड प्रोसिजर के तहत दर्शकों को पानी या सॉफ्ट ड्रिंक्स प्लास्टिक कप में दिए जाते हैं। इन कपों को बोतलों की तरह फेंका नहीं जा सकता। कटक के दर्शक बोतल लेकर अपनी सीट्स तक कैसे पहुंचे, यह सवाल उठने शुरू हो गए हैं।

पूर्व क्रिकेटर अजीत अगारकर ने कहा, ”यह शर्मनाक है। आप एक सीरीज होस्ट कर रहे हैं। हां ठीक है कि इंडिया के लिए फील्ड पर बुरा दिन था, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप बोतलें फेंकना शुरू कर दें। यह बेहद निराशाजनक है, क्योंकि कटक में काफी वक्त बाद इंटरनेशनल क्रिकेट खेला गया था। दर्शकों के इस तरह के बर्ताव के लिए यहां के लोगों को कुछ वक्त तक इंटरनेशलन क्रिकेट के लिए इंतजार कराना होगा। इससे देश का नाम खराब होता है।”

About The Author

Number of Entries : 3374

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.