सईद बोला- पाक आकर रहें एक्टर Reviewed by Momizat on . नई दिल्ली: देश में इन्टॉलरेंस को लेकर चल रही चर्चा में एक बीजेपी नेता ने बयान क्या दिया, मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद भी बहस में कूद पड़ा। सईद ने कहा, " नई दिल्ली: देश में इन्टॉलरेंस को लेकर चल रही चर्चा में एक बीजेपी नेता ने बयान क्या दिया, मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद भी बहस में कूद पड़ा। सईद ने कहा, " Rating: 0
You Are Here: Home » News » सईद बोला- पाक आकर रहें एक्टर

सईद बोला- पाक आकर रहें एक्टर

सईद बोला- पाक आकर रहें एक्टर

नई दिल्ली: देश में इन्टॉलरेंस को लेकर चल रही चर्चा में एक बीजेपी नेता ने बयान क्या दिया, मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद भी बहस में कूद पड़ा। सईद ने कहा, “अगर एक्टर शाहरुख खान को भारत में रहने में दिक्कत आ रही हो, तो वे पाकिस्तान आकर रह सकते हैं।” बता दें कि शाहरुख खान ने हाल ही में एक इंटरव्यू में माना था कि देश में इन्टॉलरेंस बढ़ता जा रहा है। इसके बाद, कुछ नेताओं ने शाहरुख को निशाने पर लिया था। बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मंगलवार को कहा था कि शाहरुख रहते यहां हैं, लेकिन उनका मन पाकिस्तान में है।

विश्व हिंदू परिषद् नेता साध्वी प्राची ने कहा- शाहरुख खान पाकिस्तानी एजेंट है। उसे पाकिस्तान ही चले जाना चाहिए। अवॉर्ड लौटाने की बात कहकर उसने राष्ट्रद्रोह किया है। इसकी सजा मिलनी चाहिए। सिर्फ शाहरुख खान ही नहीं, बल्कि अवॉर्ड लौटाने वाले सभी लोगों पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज हो। जब कश्मीर में लाखों लोग मारे-काटे जा रहे थे, अपनी जमीन से भगाए जा रहे थे, तब क्या माहौल खराब नहीं था? जब ट्रेन में हिंदुओं को जला दिया गया था, कारसेवकों पर गोलियां चलाईं गई थीं, तब क्या माहौल सही था? जब उत्तराखंड में बहू-बेटियों का खेतों में रेप किया जा रहा था, तब क्या माहौल सही था?

बीजेपी महासचिव और एमपी के पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने मंगलवार शाम ट्वीट किया- “शाहरुख खान रहते भारत में हैं, पर उनका मन सदा पाकिस्तान में रहता है। उनकी फिल्में यहां करोड़ों कमाती हैं, पर उन्हें भारत असहिष्णु नजर आता है। यह देशद्रोह नहीं तो क्या है? भारत यूनाइटेड नेशन्स का स्थाई सदस्य बनने को है। पाक समेत सभी भारत विरोधी ताकतें इसके विरुद्ध षड्यंत्र रच रही हैं। भारत में असहिष्णुता का माहौल बनाना षडयंत्र का हिस्सा है। शाहरुख का असहिष्णुता का राग पाक व भारत विरोधी ताकतों के सुर में सुर मिलाने जैसा है। जब 1993 में मुंबई में सैकड़ों लोग मारे गए, तब शाहरुख खान कहां थे? जब मुंबई पर 26/11 को हमला हुआ, तब शाहरुख कहां थे?”

मुंबई हमलों के गुनहगार सईद ने ट्वीट किया, ”स्पोर्ट्स, आर्ट्स और कल्चर के क्षेत्र में काम कर रहे मशहूर भारतीय मुस्लिम भी भारत में अपनी पहचान को लेकर लगातार लड़ाई लड़ रहे हैं। कोई भी मुस्लिम, यहां तक कि शाहरुख खान, जो भारत में मुश्किलों और भेदभाव का सामना कर रहे हैं, वे इस्लाम की वजह से पाकिस्तान आकर रह सकते हैं।”

सोमवार को अपने 50वें बर्थडे पर बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान ने देश के माहौल को लेकर चिंता जताई थी। शाहरुख ने कहा था, ”देश में इन्टॉलरेंस बढ़ रहा है। ऐसे में, अगर मुझे कहा जाता है तो एक सिम्बॉलिक जेस्चर के तौर पर मैं भी अवॉर्ड लौटा सकता हूं।” शाहरुख ने कहा, ”भारत में कोई देशभक्‍त सेक्युलरिज्म के खिलाफ जाकर सबसे बड़ी गलती करता है। हम कितना भी विचारों की आजादी की बात कर लें, लेकिन कुछ कहने पर लोग मेरे घर के बाहर आकर पत्थर फेंकने लग जाते हैं। लेकिन हां, अगर कभी किसी मुद्दे पर स्टैंड लेना होगा, तो मैं उस पर डटा रहूंगा।”

About The Author

Number of Entries : 3374

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.