विराट की कप्तानी में पहली जीत Reviewed by Momizat on . कोलंबो. तीन टेस्ट की सीरीज के दूसरे मैच में टीम इंडिया ने सोमवार को श्रीलंका को 278 रन से हरा दिया। भारतीय टीम को श्रीलंका की धरती पर 5 साल बाद और पी सारा ओवल म कोलंबो. तीन टेस्ट की सीरीज के दूसरे मैच में टीम इंडिया ने सोमवार को श्रीलंका को 278 रन से हरा दिया। भारतीय टीम को श्रीलंका की धरती पर 5 साल बाद और पी सारा ओवल म Rating: 0
You Are Here: Home » Sports » Cricket » विराट की कप्तानी में पहली जीत

विराट की कप्तानी में पहली जीत

विराट की कप्तानी में पहली जीत

कोलंबो. तीन टेस्ट की सीरीज के दूसरे मैच में टीम इंडिया ने सोमवार को श्रीलंका को 278 रन से हरा दिया। भारतीय टीम को श्रीलंका की धरती पर 5 साल बाद और पी सारा ओवल मैदान पर लगातार दूसरी बार जीत मिली है। अगस्त 2010 में भारत ने श्रीलंका को इसी मैदान पर 5 विकेट से हराया था। सोमवार को मिली जीत के साथ ही सीरीज 1-1 से बराबर हो गई। आखिरी मैच 28 अगस्त से खेला जाएगा। टीम इंडिया अगर वह मैच जीत जाती है तो वह श्रीलंका में 22 साल बाद टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमाएगी। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया को टेस्ट में यह पहली जीत मिली है।

413 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम दूसरी इनिंग में आर. अश्विन (5 विकेट) की जादुई बॉलिंग के सामने टिक नहीं सकी और आखिरी दिन लंच के ठीक बाद 134 रन पर ऑल आउट हो गई। मैच में भारत ने पहले बैटिंग करते हुए पहली इनिंग में लोकेश राहुल (108) की शानदार सेन्चुरी की बदौलत 393 रन बनाए, जबकि दूसरी इनिंग में अजिंक्य रहाणे (126) की सेन्चुरी की बदौलत 8 विकेट के नुकसान पर 325 रन बनाए। वहीं, श्रीलंकाई टीम ने पहली इनिंग में 306 और दूसरी इनिंग में 134 रन बनाए। पहली इनिंग में सेन्चुरी लगाने वाले लोकेश राहुल मैन ऑफ द मैच रहे।

श्रीलंकाई दिग्गज बैट्समैन कुमार संगकारा ने मैच खत्म होने के साथ ही टेस्ट क्रिकेट को भी अलविदा कह दिया। उन्होंने 134 मैच में 12400 रन बनाए। उनके नाम 38 सेन्चुरी और 52 हाफ सेन्चुरी है। 319 रन टेस्ट क्रिकेट में उनका हाइएस्ट स्कोर है। वर्ल्ड कप 2015 के बाद उन्होंने वनडे से और पिछले साल टी20 से संन्यास ले लिया था।

टॉस जीतकर पहले बैटिंग के लिए उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और ओपनर बैट्समैन मुरली विजय बिना खाता खोले आउट हो गए, लेकिन उनके साथी बैट्समैन लोकेश राहुल ने शानदार बैटिंग की और करियर की दूसरी सेन्चुरी लगाई। वे 108 रन बनाकर चमीरा का शिकार बने। उनके अलावा कप्तान विराट कोहली ने 78, रोहित शर्मा ने 79 और विकेटकीपर रिद्धिमान साहा ने 56 रन बनाए। इन चार बैट्समैन की मदद से भारत ने पहली इनिंग में 393 रन बनाए। श्रीलंका की तरफ से रंगना हेराथ ने सबसे अधिक 4 विकेट लिए।

कप्तान एंजिलो मैथ्यूज (102) की सेन्चुरी और कौशल सिल्वा (51), लाहिरु थिरिमाने (62) की हाफ सेन्चुरी की बदौलत श्रीलंकाई टीम ने पहली इनिंग में 306 रन ही बनाए और 87 रन से पिछड़ गई। अमित मिश्रा (4 विकेट), इशांत शर्मा (2 विकेट), उमेश यादव (1 विकेट), स्टुअर्ट बिन्नी (1 विकेट) और आर. अश्विन (2 विकेट) की शानदार बॉलिंग के कारण श्रीलंकाई टीम बढ़त हासिल नहीं कर सकी। 22 रन के भीतर ही उसके आखिरी 5 विकेट गिर गए।

87 रनों की बढ़त के साथ दूसरी इनिंग खेलने उतरी टीम इंडिया को जल्दी ही पहला झटका लगा और पहली इनिंग के शतकवीर लोकेश राहुल सिर्फ 2 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन पहली इनिंग में फ्लॉप होने वाले मुरली विजय और अजिंक्य रहाणे ने पारी संभाल ली। मुरली विजय 82 रन बनाकर आउट हुए, जबकि रहाणे ने शानदार सेन्चुरी लगाई और 126 रन बनाकर आउट हुए। इसके अलावा कोई और बैट्समैन बड़ा स्कोर तो नहीं कर सका, लेकिन अच्छी बढ़त हासिल हो गई। टीम इंडिया ने 8 विकेट के नुकसान पर 325 रन बनाकर पारी घोषित कर दी और श्रीलंका को जीत के लिए 413 रन का टारगेट दिया।

श्रीलंका के लिए 413 रन बनाना आसान नहीं था। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक ही आर. अश्विन ने उसके दो महत्वपूर्ण बैट्समैन कौशल सिल्वा (1) और आखिरी टेस्ट खेल रहे कुमार संगकारा (18) को पवेलियन भेज दिया। आखिरी दिन लंच से पहले इंडियन बॉलर्स ने उनके 7 और विकेट गिरा दिए। आखिरी विकेट गिरता, इससे पहले बारिश ने खेल रोक दिया, लेकिन जब खेल दोबारा शुरू हुआ तो श्रीलंका की आखिरी उम्मीद भी टूट गई और पूरी टीम 134 रन पर ऑल आउट हो गई। दूसरी इनिंग में श्रीलंका की तरफ से करुणरत्ने ने सबसे अधिक 46 रन बनाए, जबकि टीम इंडिया की तरफ से अश्विन ने सबसे अधिक 5 विकेट लिए। उनके अलावा अमित मिश्रा ने 3 और इशांत शर्मा, उमेश यादव ने 1-1 विकेट लिए।

About The Author

Number of Entries : 3374

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.