मैसी ने फिर दिलाई अर्जेंटीना को जीत.. Reviewed by Momizat on . पोर्टो अलेग्रो. 20वें फीफा वर्ल्ड कप के ग्रुप-एफ के अपने अंतिम लीग मुकाबले में अर्जेंटीना ने नाईजीरिया के खिलाफ 3-2 से धमाकेदार जीत दर्ज की। अर्जेंटीना अपने ग्र पोर्टो अलेग्रो. 20वें फीफा वर्ल्ड कप के ग्रुप-एफ के अपने अंतिम लीग मुकाबले में अर्जेंटीना ने नाईजीरिया के खिलाफ 3-2 से धमाकेदार जीत दर्ज की। अर्जेंटीना अपने ग्र Rating: 0
You Are Here: Home » Sports » Foot Ball » मैसी ने फिर दिलाई अर्जेंटीना को जीत..

मैसी ने फिर दिलाई अर्जेंटीना को जीत..

पोर्टो अलेग्रो. 20वें फीफा वर्ल्ड कप के ग्रुप-एफ के अपने अंतिम लीग मुकाबले में अर्जेंटीना ने नाईजीरिया के खिलाफ 3-2 से धमाकेदार जीत दर्ज की। अर्जेंटीना अपने ग्रुप में 9 अंकों के साथ टॉप पर रही। विजेता टीम की ओर से 24 जून को 27वां बर्थडे मनाने वाले कप्तान लियोनेल मैसी ने दो गोल किए। टूर्नामेंट में अब उनके गोलों की संख्या चार पहुंच चुकी है। इस प्रकार मैसी टूर्नामेंट सबसे अधिक गोल लगाने के मामले में ब्राजील के नेमार के साथ टॉप पर पहुंच गए हैं। नॉकआउट में अर्जेंटीना की भिड़ंत एक जुलाई को स्विट्जरलैंड के साथ होगा।

बोस्निया ने ईरान की उम्मीदों पर पानी फेरा
अर्जेंटीना की यह अपने ग्रुप में लगातार तीसरी जीत है और वह नौ अंक लेकर शीर्ष पर रहा। नाईजीरिया को भले ही हार का सामना करना पड़ा, लेकिन ग्रुप एफ के एक अन्य मैच में बोस्निया-हर्जेगोविना की ईरान पर 3-1 से जीत के कारण अफ्रीकी टीम नॉआउट में जगह बनाने में सफल रही। नाईजीरिया के तीन मैच में चार अंक रहे। बोस्निया पहले ही बाहर हो चुका था, लेकिन उसने अंतिम मुकाबला जीत ईरान की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

छाए रहे लियोनेल मैसी और मूसा
फुटबॉल महासमर में खेले गए तीनों लीग मुकाबलों में अर्जेंटीना की जीत के नायक रहे मैसी ने फिर से अपना कमाल दिखाया, लेकिन उन्हें नाईजीरिया के अहमद मूसा से बराबर की टक्कर मिली। इन दोनों खिलाड़ियों ने अपनी-अपनी टीम के लिए दो-दो गोल किए। अर्जेंटीना की तरफ से तीसरा और निर्णायक गोल रोजो ने 50वें मिनट में किया।

आक्रामक शुरुआत, तीसरे मिनट में ही मैसी ने दागा गोल
दर्शक अभी मैच में मशगूल हो पाते इससे पहले ही कप्तान मैसी ने अपने कौशल का जादुई नमूना पेश करके तीसरे मिनट में गोलकर उन्हें रोमांचित कर दिया, लेकिन अगले ही पल मूसा ने भी दिखा दिया कि वह भी किसी से कम नहीं हैं। इसके बाद भी स्टेडियम में मैसी का नाम ही गूंजता रहा, जिन्होंने पिछले मैच में ईरान के खिलाफ आखिरी क्षणों में गोल करके अपनी टीम को पहले ही नॉकआउट में पहुंचा दिया था।

हाफ टाइम से चंद सेकंड पहले किया दूसरा गोल
हिगुएन ने इसके बाद 25वें मिनट में मौका गंवाया, जबकि इसके दो मिनट बाद नाईजीरिया के जवाबी हमले में पीटर ओडेमविंगी भी गोल करने से चूक गए। मैसी ने हालांकि मध्यांतर से ठीक पहले अपनी टीम को 2-1 से बढ़त दिला दी। इस स्टार स्ट्राइकर की बाएं पांव से जमाई गई फ्री किक बड़ी खूबसूरती से लहराकर और एनयीमा को छकाती हुई गोल की घुस में गई। यह मैसी का टूर्नामेंट में चौथा गोल था, जिससे उन्होंने ब्राजील के नेमार की बराबरी की।

हैट्रिक से चूके मूसा
अर्जेंटीना ने 63वें मिनट में मैसी को बाहर बुलाकर उनकी जगह रिकाडरे अल्वारेज को उतारा। नाईजीरिया पहले से ही गोल करने के लिए बेहद बेताब दिख रहा था। मूसा ने फिर से उसके आक्रमण की कमान संभाल रखी थी। उनके पास 74वें मिनट में हैट्रिक पूरी करने का बेहतरीन मौका था, लेकिन उनका शॉट क्रॉस बार से बाहर चला गया। नाईजीरिया ने इसके बाद भी कुछ अच्छे प्रयास किए, लेकिन वे कामयाब नहीं हो सके।

मैसी रहे मैन ऑफ द मैच
अर्जेंटीना की ओर से तीसरा और निर्णायक गोल रोजा ने 50वें मिनट में किया। अर्जेंटीना अंतिम-16 में ग्रुप-ई से दूसरे स्थान पर रहने वाली टीम स्विट्जरलैंड, जबकि नाईजीरिया इस ग्रुप से शीर्ष पर रहने वाली टीम फ्रांस से भिड़ेगा। मैसी को उनके शानदार खेल के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

मुकाबले में खास
*फीफा वर्ल्ड कप में यह केवल तीसरा अवसर है, जब चार मिनट के अंदर दो गोल हुए।
*इससे पहले 1954 में ऑस्ट्रिया और चेकोस्लोवाकिया तथा 1986 में सोवियत संघ और हंगरी के बीच खेले गए मैचों में पहले चार मिनट में दो गोल हुए थे।
*लियोनेल मैसी अपने पिछले 23 इंटरनेशनल मुकाबलों में 24 गोल कर चुके हैं।

About The Author

Number of Entries : 3374

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.