छोटा राजन से मिलने पहुंचे इंडियन डिप्लोमैट Reviewed by Momizat on . बाली: जकार्ता में इंडियन एंबेसी के फर्स्ट सेक्रेटरी संजीव अग्रवाल रविवार को बाली पुलिस की गिरफ्त में कैद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन से मुलाकात करने पहुंचे। मुलाका बाली: जकार्ता में इंडियन एंबेसी के फर्स्ट सेक्रेटरी संजीव अग्रवाल रविवार को बाली पुलिस की गिरफ्त में कैद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन से मुलाकात करने पहुंचे। मुलाका Rating: 0
You Are Here: Home » News » छोटा राजन से मिलने पहुंचे इंडियन डिप्लोमैट

छोटा राजन से मिलने पहुंचे इंडियन डिप्लोमैट

छोटा राजन से मिलने पहुंचे इंडियन डिप्लोमैट

बाली: जकार्ता में इंडियन एंबेसी के फर्स्ट सेक्रेटरी संजीव अग्रवाल रविवार को बाली पुलिस की गिरफ्त में कैद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन से मुलाकात करने पहुंचे। मुलाकात के बाद अग्रवाल ने कहा कि भारत सरकार का मकसद छोटा राजन को सिर्फ काउंसलर एक्सेस मुहैया कराना है। उधर, राजन को भारत लाने की कोशिशें तेज हो गई हैं। सीबीआई और मुंबई पुलिस की एक टीम जल्द ही उसे लाने के लिए इंडोनेशिया रवाना होगी। उधर, एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, छोटा राजन ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि वह पहले भी आतंक के खिलाफ लड़ता रहा है और आगे भी लड़ता रहेगा।

बता दें कि छोटा राजन को 1993 मुंबई धमाकों के मास्टरमाइंड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का जानी दुश्मन माना जाता है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार राजन के जरिए दाऊद तक पहुंचना चाहती है। छोटा राजन ने दाऊद गैंग से बाली में अपनी जान को खतरा बताया है। छोटा राजन ने भारत सरकार और इंडोनेशिया पुलिस को चिट्ठी लिखकर कहा कि भारत जाना चाहता है।

छोटा राजन पर हमले की आशंका के मद्देनजर भारत सरकार उसे बेहद टाइट सिक्युरिटी में देश लाने के बारे में सोच रही है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उसे लाने के लिए जाने वाली सीबीआई और पुलिस अफसरों की टीम के साथ कुछ कमांडोज भी भेजे जाएंगे। इसके अलावा, तीन स्नाइपर शूटर्स भी दूर से उन पर नजर रखेंगे। बता दें कि राजन पर दाऊद इब्राहिम कई बार जानलेवा हमला करा चुका है।

दाऊद के खिलाफ छोटा राजन से मिलने वाली इन्फॉर्मेशन सरकार के लिए अहम होगी। बता दें कि भारत ने हाल के महीनों में दाऊद इब्राहिम के खिलाफ घेराबंदी तेज कर दी है। यूएई और कई देशों में भारत दाऊद की प्रॉपर्टी सीज कराने का काम पहले ही शुरू करवा चुका है। सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रिटेन दौरे में दाऊद का मुद्दा उठाने वाले हैं।

* राजन भारत को दाऊद के पाकिस्तान में ठिकानों, नेटवर्क और उसकी गतिविधियों के बारे में जानकारी दे सकता है।
* इंटेलिजेंस के एक अफसर के मुताबिक, ”छोटा राजन की गिरफ्तारी दाऊद के खिलाफ हमारे डोजियर को और मजबूत करेगी। इससे पाकिस्तान को बेनकाब करने में भी मदद मिलेगी।”
* समझा जा रहा है कि छोटा राजन भारत की एजेंसियों के साथ लगातार संपर्क में रहा है। अभी तक दाऊद के बारे में काफी कुछ जानकारी भी दे चुका है। अब उसके पकड़े जाने के बाद एजेंसियों को कुछ दूसरी अहम जानकारियां मिलने की उम्मीद है। इनका दाऊद के खिलाफ इस्तेमाल किया जा सकेगा।
* छोटा राजन से भारत की एजेंसियां फेस टू फेस इंट्रोगेशन कर सकेंगी। ऐसे में, वह पहले से ज्यादा जानकारी दाऊद के बारे में दे सकता है। एजेंसियां दाऊद के अलावा टाइगर मेमन के बारे में भी जानकारी हासिल करेंगी।

About The Author

Number of Entries : 3374

Leave a Comment

You must be logged in to post a comment.